दुनिया की दूसरी महिला अभियंता एलिसा लियोनिडा ज़मफैर्सकू के बारे में 10 तथ्य

Shayr

दुनिया की दूसरी महिला अभियंता एलिसा लियोनिडा ज़मफैर्सकू के बारे में 10 तथ्य

दोस्तों आज हम इस पोस्ट में दुनिया की दूसरी महिला एलिसा लियोनिडा के बारे में कुछ तथ्यों के

बारे में जानेंगे क्योकि हमारे जिन्दगी में आगे बढ़ने में बहुत मदद करता है |

एलिसा लियोनिडा ज़मफैर्सकू के जन्म और 10 तथ्य

दुनिया की दूसरी महिला अभियंता एलिसा लियोनिडा ज़मफैर्सकू के बारे में 10 तथ्य
दुनिया की दूसरी महिला अभियंता एलिसा लियोनिडा ज़मफैर्सकू के बारे में 10 तथ्य

उनका जन्म 10 नवंबर, 1887 को हुआ था और 25 नवंबर, 1 9 73 को उनकी मृत्यु हो गई थी। रोसा के पहले महिला अभियंता लिसा लियोनिडा जमफैर्सुक और दुनिया की दूसरी महिला अभियंता आज एक सौ एकतीस वर्ष की हो गई होगी नरेगा जॉब कार्ड लिस्ट 

उनके बारे में दिलचस्प तथ्य

जमफैर्सुक का जन्म गुलाबी रोमनिया में जन्म हुवा था उनके पिता एक कैरियर अधिकारी थे विज्ञान में महिलाओं के खिलाफ

पुर्वाग्रहों के कारन बुखारेट में उनकी पहली पसंद स्कूल थी उस स्कूल से उन्हें ख़ारिज कर दिया था उसके बाद 9990 राँयल एकेडमी ऑफ टेककनोलोंजी में प्रेवेस प्राप्त हुवा था चार्ल्सटनबर्ग, बर्लिन, जिसे अब बर्लिन के तकनीकी विश्वविद्यालय के नाम से जाना जाता है। उन्होंने सन 1912 में इंजीनियरिंग कोर्स पूरा किया साथ ही]स्नातक की उपाधि प्राप्त की और उन्होंने दावा किया की जमफैर्सकू दुनिया की सबसे पहली अभियंता महिला थी | लेकिन इन से पहले आयरिश इंजीनियरिंग एलिस पेरी ने 1906 में जमफैर्सुक से छे साल पहले स्नातक की उपाधि प्राप्त की थी |

उनके बारे में दिलचस्प तथ्य

जमफैर्सकू रोमनिया लौटने के बाद रोमनिया के भूगभिर्ये में काम करने को कहा | उन्होंने प्रथम विश्व युद्ध के दौरान

रेड क्रांस में काम करना शुरू किया माइसेस्ती के एक छोटे से शरह में अस्पताल के

प्रबन्धक के रूप में यह शरह 1971 में जर्मनी और रोमिनिया के बिच एक लड़ाई का प्रमुख स्थल है |उन्होंने अपनी कार्य अवधि में वह एक भावुक और अभिनव कार्यकर्ता साबित हुई | उन्होंने अपनी जिन्दगी में प्रयोगसाला के रूप में जमफैस्कू ने खनिज , पानी , कोयले , तेल जैसे पदार्थो का अध्ययन करने के लिए नई विधियों और नई विशेषण तकनीको की शरुआत की

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: