आज शुक्रवार सर्दी संक्रांति है। इसका मतलब यह है कि इसका क्या अर्थ है

Shayr

आज शुक्रवार सर्दी संक्रांति है। इसका मतलब यह है कि इसका क्या अर्थ हैसर्दियों के दिनों में सकंरान्ति को मनाया जाता है |यह तब होता है जब पृथ्वी के अनुसार उत्तरी गोलार्ध के निवासियों के लिए उत्तरी दिशा की ओर से दक्षिण दिशा तक सूर्य पहुंचता है |तब तक सकंरान्ति का समय आ जाता है पृथ्वीस्क के अनुसार




दिन कब तक होगा सक्न्रान्ति को

timeanddate.com के अनुशार सूर्योदय 8:02 एएम् है , और सूर्यास्त का समय लगभग 5:23 पीएम पर नौ घंटे 21 मिनट और 7 सेकंड सटीक होने के साथ फेयरबैंक्स, अलास्का, कुहासा के साथ तुलना करे जहां सूर्योदय 10:58 एएम् है और सूर्यास्त 2:29 पीएम है

क्या उस समय ठंडा रहेगा




हालांकि यह शर्दी का मौसम है इसलिए ठण्ड रहेगा हो सकता है हर साल की भांति ठंडा पड सकता है |तकनिकी रूप से कहे तो यह ठंडा का पहला दिन है , अकुवेदर पर लघभग 28 डीग्री के साथ 40 -50 डीग्री उचतम हो सकता है हालांकि पहले दिन बारिश होने की 50 प्रतिशत शम्भावाना है राष्टीय मौसम सेवा के अनुशार कुछ हलकी बारिश हो सकती है ये बारिश किसान भाइयो के लिए और कहे तो हम सभ की जरुरत है पवन गस्त प्रति घंटे 30 मिल तक पहुच सकता है इसलिए इस तिथि के औसत तापमान 37 डीग्री हो सकता है | दुनिया की दूसरी महिला अभियंता

क्या उल्का शांवर रहेगा या नहीं

अर्थस्काई के अनुशार सर्दियो का संक्रांति उल्का शांवर के साथ शुरू होता हुवा जो 17 दिसम्बर को शुरू होते हुए लगभग 26 दिसम्बर को समाप्त होता है अन्य उल्का की तुलना में बहुत कम होगा जो यही आगे चलकर 1 जनवारी से उल्का शावर बढ़सकता है स्नान हर दिन सुबह के समय ही शुरू होता है और शाम 2 बजे तक लगभग समाप्त हो जाता है गाँव या छोटे शहरों में समीप के साथ लोगो को आनंदित होता है वही बड़े शराहो में रोसनी से दूर एक अँधेरे स्पष्ट अकास में देखने के लिए सबसे अच्छा होता है

आप कैसे मना सकते है

इंडी पार्क मनोरंजन मनोरंजन शुक्रवार को लाइट्स के शीतकालीन सक्रांति समारोह परेड की मुज्बानी कर रहा है जो 6 पीएम से शुरू होता है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: